Gupta It Hub – Make Your Life Easy

भारत में बेस्ट Discount Brokers | भारत में सर्वश्रेष्ठ डिस्काउंट ब्रोकर्स | Best Discount Brokers in India

 

भारत में ज़ेरोधा की स्थापना के बाद डिस्काउंट ब्रोकिंग के एक नए युग का चलन हो गया है तथा आज जब भी कोई ट्रेडर या इन्वेस्टर अपना डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने की बात करता है तो वह डिस्काउंट ब्रोकर को ही ज्यादा महत्व देता है।

डिस्काउंट ब्रोकर की तरफ लोगों के आकर्षण का कारण इनमें लगने वाले मिनिमम चार्जेज है जिसके कारण ब्रोकरेज के रूप में लोगों को ज्यादा पैसों का भुगतान नहीं करना पड़ता।

तो आज के इस आर्टिकल में हम यही जानने की कोशिश करेंगे कि एक डिस्काउंट ब्रोकर एक फुल सर्विस ब्रोकर से किस प्रकार भिन्न है तथा इसका इस्तेमाल करने के क्या क्या फायदे है –

स्टॉकब्रोकर क्या है? ब्रोकर की आवश्यकता 

जब भी हम किसी लिस्टेड कंपनी में निवेश करने की सोचते है तो हमें यह काम 2 एक्सचैंजेस के माध्यम से करना पड़ता है – NSE (National Stock Exchange) तथा BSE (Bombay Stock Exchange) लेकिन हम इन एक्सचैंजेस के माध्यम से डायरेक्टली शेयर्स नहीं खरीद सकते। इसके लिए हमें कड़ी के रूप में ब्रोकर की जरूरत पड़ती है। ब्रोकर हमें यह सेवाएं प्रदान करने के लिए कुछ चार्जेज भी लेते है जिसको ब्रोकरेज के रूप में जाना जाता है।

अगर हम आसान भाषा में बात करे तो जो कंपनियां साबुन बनती है हम उनकी फैक्ट्रीज में जाकर डायरेक्टली तो साबुन नहीं खरीदते।

जबकि रिटेल स्टोर्स पर जाकर हम अपना सामन खरीदते है तथा ये रिटेल स्टोर्स अन्य बड़े स्टोर्स से माल लेते है तथा उन स्टोर्स में फैक्ट्रीज से सीधा माल आता है। इसी प्रकार यहां पर फैक्ट्रीज के रूप में BSE या NSE को गिना जा सकता है तथा उस रिटेल स्टोर को एक ब्रोकर के रूप में समझा जा सकता है।

डिस्काउंट ब्रोकर का मतलब 

अगर हम पश्चिमी देशों की बात करे तो उनमे काफी पहले से इस प्रकार के ब्रोकर प्रचलन में थे जबकि भारत में इनका आगमन सन 2010 में हुआ जब नितिन कामथ ने Zerodha की स्थापना की। डिस्काउंट ब्रोकर वो ब्रोकर होता है जो काफी कम ब्रोकरेज चार्ज करता है तथा ट्रेडिंग के लिए एक फ़ास्ट तथा हाई स्पीड प्लेटफार्म उपलब्ध करवाता है। अगर हम एक फुल सर्विस ब्रोकर की बात करे जैसे HDFC Securities , Motilal Oswal आदि तो इनकी बजाय डिस्काउंट ब्रोकर में काफी कम ब्रोकरेज लगता है लेकिन इन डिस्काउंट ब्रोकर में उतनी सेवाएं प्रदान नहीं की जाती जितनी आपको एक फुल सर्विस ब्रोकर में मिलती है। Training Sessions, Relationship Manager, Branch Presenve, रिसर्च तथा स्टॉक टिप्स जैसी सुविधाएं एक डिस्काउंट ब्रोकर में प्रदान नहीं की जाती है। 

लेकिन वर्तमान में मार्किट में बहुत सारे डिस्काउंट ब्रोकर अपनी सेवाएं दे रहे है तथा आपको इनके चयन को लेकर दुविधा जरूर हो रही होगी तो आइये भारत के कुछ बेस्ट डिस्काउंट ब्रोकर्स के बारे में बात करते है –

भारत में 10 बेस्ट डिस्काउंट ब्रोकर 

1. ZERODHA –

भारतीय डिस्काउंट ब्रोकिंग की नींव ज़ेरोधा ने ही रखी थी। इसी कारण के सारे डिस्काउंट ब्रोकर में से ज़ेरोधा के पास सबसे ज्यादा क्लाइंट्स है। इक्विटी डिलीवरी पर ज़ेरोधा में शून्य ब्रोकरेज चार्ज किया जाता है। इसी प्रकार इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए फ्लैट 20 रूपये प्रति ट्रेड का चार्ज लगता है। कस्टमर रिव्यु के हिसाब से ज़ेरोधा एक बेहतरीन कस्टमर सपोर्ट प्रदान करता है तथा इसके अलावा इसकी अकाउंट ओपनिंग प्रोसेस भी काफी फ़ास्ट तथा आसान है। इसमें आपको अकाउंट ओपन करवाते समय 300 रूपये का चार्ज लगता है तथा एक साल की 300 रूपये मैंटेनस फीस भी लगती है।

Pros :

  • यह एक Self-clearing ब्रोकर है अर्थात इसमें कस्टमर्स को किसी भी प्रकार के क्लीयरिंग चार्जेज का भुगतान नहीं करना पड़ता।

  • फ्री स्टॉक मार्किट तथा फाइनेंसियल एजुकेशन के लिए Zerodha Versity एक बेहतरीन प्लेटफार्म है।

  • फ्री इक्विटी डिलीवरी का फायदा मिलता है।

  • इसका कस्टमर सपोर्ट अच्छा है तथा अब यह एक ट्रस्टेड ब्रांड बन चूका है।

Cons:

  • किसी भी प्रकार की रिसर्च रिपोर्ट या मार्किट टिप्स या रेकमेंडेशन नहीं मिलती।

  • Call and Trade सेवाओं के लिए चार्ज लगता है।

2. Upstox –

भारत में तेजी से ग्रो करने वाले ब्रोकर्स में से एक Upstox भी है जिसको सर रतन टाटा द्वारा फंडिंग मिली हुई है। इस स्टॉक ब्रोकर की स्थापना सन 2012 में RKSV के रूप में हुई थी लेकिन बाद में इसको 2015 में Upstox नाम दिया गया। यह क्लाइंट्स की संख्या के आधार पर भारत के दूसरा सबसे बड़ा ब्रोकर है। इसमें इक्विटी डिलीवरी पर जीरो ब्रोकरेज लगता है तथा इंट्राडे पर भी 20 रूपये प्रति ट्रेड के हिसाब से चार्ज लगता है। यह आपको चार गुना मार्जिन भी प्रदान करता है। upstox में अकाउंट खुलवाने की प्रक्रिया बहुत आसान है तथा इसमें आपको अकाउंट ओपन करवाने के लिए किसी भी प्रकार के चार्जेज का भुगतान नहीं करना पड़ता लेकिन Annual Maintenance फीस के रूप में 300 रूपये लगते है।

Pros :

  • फ्री इक्विटी डिलीवरी।

  • फ्री डीमैट अकाउंट ओपनिंग तथा कम मेंटेनेंस चार्ज।

  • ट्रेडिंग के लिए अनेक प्रकार के टेक्निकल इंडीकेटर्स की सुविधा भी इसमें मिलती है।

  • रतन टाटा द्वारा फंडिंग मिलने के कारण यह काफी प्रसिद्ध तथा विश्वास वाला ब्रोकर बन चूका है।

Cons :

  • रिसर्च रिपोर्ट तथा ट्रेडिंग कॉल्स की सुविधा नहीं मिलती है।

  • Call and Trade के लिए चार्जेज का भुगतान करना पड़ता है।

3. 5Paisa –

IIFL (Indian Infoline) 5 paisa ब्रोकर का प्रोमोटर है। फुल सर्विस ब्रोकिंग में 2 दशकों तक सेवाएं देने के बाद अपने क्लाइंट्स को कम ब्रोकरेज वाला प्लेटफॉर्म प्रदान करवाने के लिए IIFL ने डिस्काउंट ब्रोकिंग के क्षेत्र में प्रवेश किया। 5 Paisa में इंट्राडे ट्रेडिंग पर 10 रूपये प्रति ट्रेड का चार्ज लगता है तथा इक्विटी डिलीवरी पर भी 10 रूपये प्रति आर्डर के हिसाब से चार्ज लगता है (अगर आप उनके प्रीमियम प्लान के सब्सक्राइबर नहीं हो तो यह 20 रूपये प्रति आर्डर के हिसाब से लगता है)। इसमें डीमैट अकाउंट खुलवाने के लिए भी आपको किसी भी प्रकार की फीस का भुगतान नहीं करना पड़ता है। 45 रूपये प्रति महीने का मेंटेनेंस चार्ज लगता है तथा वो भी तभी लगता है जब आप ट्रेडिंग करते हो।

Pros :

  • फ्री डिलीवरी ट्रेडिंग।

  • 10 रूपये प्रति ट्रेड ब्रोकरेज (केवल प्रीमियम प्लान के लिए लागू)।

  • कम मेंटेनेंस चार्जेज।

Cons :

  • 3 in 1 account की सुविधा नहीं मिलती है।

  • Call and Trade चार्जेज काफी ज्यादा है।

  • बेसिक प्लान में फ्री रिसर्च रिपोर्ट की सुविधा उपलब्ध नहीं है।

4. Angel Broking –

इसकी स्थापना सन 1987 में हुई थी तथा 30 से भी ज्यादा वर्षों के अनुभव के कारण यह एक प्रसिद्ध ब्रोकर बन चूका है। हालाँकि यह एक फुल सर्विस ब्रोकर था लेकिन हाल ही में इन्होने अन्य ब्रोकर्स के साथ कम्पटीशन करने के लिए अपने बिज़नेस मॉडल में थोड़ा चेंज किया है तथा अब इसमें परसेंटेज ब्रोकरेज के बजाय फ्लैट रेट्स लगती है। इंट्राडे के लिए इसमें आपको 20 रूपये प्रति ट्रेड का चार्ज लगता है तथा इसमें अकाउंट खुलवाने के लिए आपको किसी भी प्रकार की फीस नहीं देनी पड़ती है लेकिन इसमें सालाना मैंटेनस फीस के रूप में 240 रूपये आपको देने पड़ते है।

Pros :

  • फ्री इन्वेस्टमेंट एडवाइजरी तथा रिसर्च टूल।

  • फ्री इक्विटी डिलीवरी।

  • फुल ब्रोकर की सुविधा कम कीमत पर मिल जाती है।

  • फ्लैट ब्रोकरेज चार्जेज।

Cons :

  • Call and Trade की सेवा के लिए आपको चार्ज देना पड़ता है।

  • कस्टमर सपोर्ट औसत से कम है।

  • 3 in 1 account की सुविधा उपलब्ध नहीं है।

5. Groww –

इसकी स्थापना सन 2016 में डायरेक्ट म्यूच्यूअल फण्ड प्लेटफार्म के रूप में हुई थी लेकिन बाद में इन्होने अपनी खुद की डिस्काउंट ब्रोकरेज सुविधाएं भी चालू कर दी।

इसमें इक्विटी डिलीवरी पर आपको 20 रूपये का ब्रोकरेज लगता है तथा इंट्राडे ट्रेडिंग पर भी 20 रूपये प्रति ट्रेड के हिसाब से चार्ज लगता है।

इसमें आपको अकाउंट ओपन करवाने पर तथा सालाना मेंटेनेंस फीस के रूप में भी किसी भी प्रकार के चार्ज नहीं देने पड़ते।

Pros :

  • कमिशन फ्री इन्वेस्टमेंट की सुविधा मिलती है।

  • सालाना मेंटेनेंस फीस के रूप में आपको किसी भी प्रकार की फीस नहीं देनी पड़ती है।

Cons :

  • Call and Trade की सुविधा नहीं मिलती है।

  • रिसर्च रिपोर्ट तथा ट्रेडिंग कॉल्स की सुविधा नहीं मिलती है।

  • केवल इक्विटी इन्वेस्टमेंट की सुविधा मिलती है।

6. Samco –

सन 2015 में इसकी स्थापना हुई थी तथा यह काफी कम फीस वाला डिस्काउंट ब्रोकर है। अपने क्लाइंट्स को यह भारी लिवरेज की सुविधा प्रदान करता है। इसमें आपको 20 रूपये प्रति ट्रेड या 0.2% में से जो भी कम है उतनी फीस का भुगतान इंट्राडे तथा डिलीवरी ट्रेड पर करना होता है। इसमें आपको अकाउंट ओपन करवाने पर किसी भी प्रकार की फीस का भुगतान नहीं करना पड़ता तथा सालाना मेंटेनेंस फीस के रूप में 400 रूपये का भुगतान करना पड़ता है।

Pros :

  • ट्रेडर्स को भारी मार्जिन की सुविधा मिलती है।

  • ब्रोकरेज काफी कम है।

Cons :

  • Call and Trade की सुविधा के लिए अलग से चार्ज देना पड़ता है।

7. Trade Smart Online –

ट्रेड स्मार्ट ऑनलाइन एक डिस्काउंट ब्रोकर है। VNS FInance and Capital Limited इसका प्रोमोटर ग्रुप है जो पिछले 2 दशकों से एक फुल सर्विस ब्रोकर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहा है।

इसमें आपको 2 प्रकार के प्लान देखने को मिलते है –

  • Delivery – Power Plan में 15 रूपये प्रति ट्रेड तथा Value Plan में 0.07%

  • Intraday Trading – Power Plan में 15 रूपये प्रति ट्रेड तथा Value Plan में 0.007%

इसमें अकाउंट ओपन करवाने पर 400 रूपये की फीस लगती है तथा सालाना मैंटेनस के रूप में 300 रूपये का भुगतान करना पड़ता है।

Pros :

  • ब्रोकरेज काफी कम लगता है।

  • ट्रेडर्स को काफी ज्यादा मार्जिन की सुविधा मिल जाती है।

  • फ्री टूल्स की सुविधा भी मिलती है जैसे – Span Margin Tools तथा brokerage calculator

Cons :

  • Call and Trade की सुविधा पर चार्ज लगता है।

  • IPO तथा म्यूच्यूअल फण्ड की सुविधा नहीं मिलती है।

  • रिसर्च तथा टिप्स की सुविधा नहीं मिलती है।

8. Trade Jini –

इसकी स्थापना सन 2012 में हुई थी तथा दक्षिणी भारत में इस ब्रोकर की काफी अच्छी प्रजेंस है।

इसमें ब्रोकरेज इस प्रकार से लगता है –

  • Delivery Trading – 0.10%  या 20 रूपये प्रति ट्रेड में से जो भी कम है।

  • Intraday Trading – 0.01% या 20 रूपये प्रति ट्रेड में से जो भी कम है।

इसमें अकाउंट ओपन करवाने के लिए आपको 300 रूपये की फीस लगती है तथा सालाना मैंटेनैंस फीस के रूप में भी 300 रूपये का भुगतान करना पड़ता है।

Pros :

  • सिंगल ट्रेडिंग प्लेटफार्म की सुविधा मिलती है।

  • इंट्राडे के लिए काफी ज्यादा मार्जिन की सुविधा मिलती है।

  • ब्रोकरेज काफी कम देना पड़ता है।

Cons :

  • 3 In 1 account की सुविधा मिलती है।

  • केवल Non-Agriculture Commodity ट्रेडिंग की सुविधा ही उपलब्ध है।

  • Call and Trade की सुविधा के लिए अलग से चार्ज देना पड़ता है।

9. Wisdom Capital –

यह काफी प्रसिद्ध ऑनलाइन डिस्काउंट ब्रोकर है जिसकी स्थापना सन 2013 में हुई थी। इसके सबसे ज्यादा प्रसिद्ध FREEDOM प्लान में आपको जीरो ब्रोकरेज की सुविधा मिलती है। इसके अन्य प्लान्स इस प्रकार है –

h is popular among its customers.

Brokerage

Plan

Freedom

Plan

Pro

Plan

Ultimate

Plan

Equities

Zero

0.005% Intraday &

 

Delivery

0.007% Intraday &

 

Delivery

Pros:

  • FREEDOM प्लान में जीरो ब्रोकरेज की सुविधा मिलती है।

  • फ्लेक्सिबल ब्रोकरेज प्लान की सुविधा मिलती है।

  • प्रीमियम प्लान्स में ज्यादा मार्जिन की सुविधा मिलती है।

Cons :

  • Call and Trade की सुविधा के लिए चार्ज देना पड़ता है।

  • एवरेज कस्टमर सपोर्ट।

  • टेक्नोलॉजी प्लेटफार्म के डेवलपमेंट पर किसी भी प्रकार के फोकस नहीं किया जाता है।

10. FYRES Securities –

यह एक ऑनलाइन डिस्काउंट ब्रोकर है जिसकी स्थापना सन 2015 में हुई थी। FYRES एक प्रकार से Focus your Energy & Reform the Self को ही प्रदर्शित करता है। इसमें इक्विटी डिलीवरी पर जीरो ब्रोकरेज लगता है तथा इंट्राडे के लिए 20 रूपये प्रति ट्रेड का ब्रोकरेज आपको देना पड़ता है। इसमें अकाउंट ओपन करवाने के लिए तथा सालाना मेंटेनेंस फीस के रूप में भी आपको किसी भी प्रकार का चार्ज नहीं लगता है।

Pros :

  • एडवांस्ड चार्ट, एनालिटिक्स तथा स्क्रीनर्स की सुविधा मिलती है।

  • ब्रोकरेज काफी कम लगता है तथा ज्यादा मार्जिन की सुविधा मिलती है।

Cons :

  • Call and Trade के लिए अलग से चार्ज देना पड़ता है।

  • अन्य डिस्काउंट ब्रोकर की बजाय इसमें काफी ज्यादा चार्ज लगता है।

निष्कर्ष

भारत में जब तक डिस्काउंट ब्रोकर का ज्यादा प्रचलन नहीं हुआ था तब तक लोगों को काफी ज्यादा ब्रोकरेज का भुगतान करना पड़ता था लेकिन डिस्काउंट ब्रोकर के आने के बाद भारी ब्रोकरेज से छुटकारा मिल पाया है। अलग-अलग ब्रोकर्स में भिन्न-भिन्न प्रकार की सेवाएं प्रदान करवाई जाती है इसलिए आपको अपनी सहूलियत के हिसाब से सही ब्रोकर का चयन करना चाहिए।

अगर आप सभी ब्रोकर के बीच में तुलना करके एक अच्छे ब्रोकर का चयन करना चाहते है तो हम आपके लिए लाए है “SELECY By Finology”

इस प्लेटफार्म की सहायता से आप भारत के सबसे प्रसिद्ध ब्रोकर्स के बीच एक तुलना करके अपने लिए सबसे सही ब्रोकर का चयन कर सकते है। इसके अलावा इस प्लेटफार्म की सहायता से आप अपने पसंदीदा ब्रोकर में डीमैट अकाउंट भी खुलवा सकते है।

धन्यवाद!!

0

Leave a Comment